लहरों का शांत देखकर ये मत समझना,की समंदर में रवानी नहीं है,
जब भी उठेंगे तूफ़ान बनकर उठेंगे,अभी उठने की ठानी नहीं है…